Satyug #2 – Hindi (Homage to Batman Cover #9)

229.00

संक्षेप

मुर्दे बेशक खामोश होते है मगर ये ख़ामोशी भी बहुत कुछ बयान करती है। अस्तीपुर को हिला देने वाली प्रीतम डबराल की निर्मम हत्या को एक साल बीत चूका है। युगांत कपूर उर्फ़ युग उसे मिली हुई नयी ज़िम्मेदारी को आत्मसात कर चुका है। जिम्मेदारी जो उसे लायी है नरक की आत्माओं और बुरी शक्तियों से जुडी हुई एक काली अँधेरी दुनिया में, जहाँ उसका एक मात्र साथी है, सत्या। इस दुनिया के बारे में जान ने के दौरान , उसे सुनाई देती है एक लड़की की बेबस पुकार और दिखाई देते है उसके साथ हुए कुकृत्य के हिरदयविरादक दृश्य।
एक नए केस रुट ६६ ने अस्तीपुर को झकझोर के रख दिया है। क्या नए अस पी राजिव सिंह सुलझा पाएंगे इस केस की गुथी को या डूब जाएंगे अस्तीपुर नामक इस स्याह के दलदल में ? क्या इस केस को सुलझाने के बाद थमेगा अस्तीपुर में अराजकता का माहौल या फिर जल जाएगा अस्तीपुर इस मामले की आग में। केवल समय ही बताएगा। टीम स्वयंभू पेश करते है – सतयुग अंक 2

आभार सूचि

  • कथानक – सुदीप मेनन
  • चित्रांकन – कायो पेगाडो
  • रंगसज्जा – ब्री सौज़ा
  • आवरण – कायो पेगाडो और ब्री सौज़ा
  • शब्दांकन – रवि राज आहूजा
  • हिंदी रूपांतरण और ग्राफ़िक डिज़ाइन – मंदार गंगेले और गौरव गंगेले
  • अध्यक्ष और मुख्य सम्पादक – भूपिंदर ठाकुर

अस्वीकरण

© 2022 स्वयंभू एंटरटेनमेंट। सर्वाधिकार सुरक्षित। यह एक काल्पनिक कृति है। इस पुस्तक के सभी नाम, पात्र, व्यवसाय, स्थान, और घटनाएँ या तो लेखक की कल्पना की उपज हैं या काल्पनिक तरीके से उपयोग की गई हैं। वास्तविक व्यक्तियों, जीवित या मृत, या वास्तविक घटनाओं से कोई भी समानता विशुद्ध रूप से संयोग है।

अगर आप स्वयंभू एंटरटेनमेंट से जुडी घटानएं और खबरों से जुड़े रहना चाहते है तो हमें हमारे आधिकारिक सोशल मीडिया चैनल्स पर फॉलो करें।